हॉलीवुड की 12 फिल्में जो कॉन्ट्रोवर्सियल कंटेंट के कारण प्रतिबंध की शिकार हो गईं

हॉलीवुड की 12 फिल्में जो कॉन्ट्रोवर्सियल कंटेंट के कारण प्रतिबंध की शिकार हो गईं

वैसे तो वैश्विक महामारी के चलते पूरे फिल्म उद्योग को तबाही सामना करना पड़ा है। बावजूद इसके साल का मूवी कैलेंडर उन फिल्मों से भरा है जिन्हें हमें जरूर देखनी चाहिए। इस बात से इंकार नहीं किया जा सकता है कि जहां एक तरफ महामारी के कारण सिनेमा कल्चर खत्म होने के दहाने पर खड़ा और इसमें सुधार की गुंजाइश भी कम ही बची है। एक तरह से कहें तो जिस तरह से प्रादेशिक छोटे सिनेमा हॉल को मल्टीप्लेक्स निगल गया था उसी तरह मल्टीप्लेक्स को ओटीटी निगल जाएगा।

वहीं, दूसरी तरफ वीडियो स्ट्रीमिंग कल्चर की तरफ लोगों का रुझान बढ़ा है। ऐसा होने से एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री में भारी उछाल आया है। लोगों में बेहतर सिनेमा को लेकर रुझान बढ़ा है। पर मुश्किल अब ये आ खड़ी हुई है कि बहुत सारे में से कुछ बेहतर को कैसे चुना जाए। इस बात की पूरी उम्मीद है कि आने वाले कुछ सालों में भी ऐसे ही हालात रहे।

हॉलीवुड की 12 फिल्में जो कॉन्ट्रोवर्सियल कंटेंट के कारण प्रतिबंध की शिकार हो गईं

अफसोस की बात यह है कि हमें इस बात का कोई अंदाजा नहीं है कि फिल्मों को लेकर 2021 का कैंवास कैसा दिखेगा। आने वाले महीनों में कहीं-कहीं सिनेमा हॉल खुले हैं पर दर्शक नहीं पहुंच रहे हैं। अधिकतर सिनेमा हॉल खाली रह रहे हैं। जो फिल्म डिस्ट्रीब्यूटर्स प्रोड्यूसरों को कॉल कर कहानी तक बदलवा दिया करते थे, उनके लिए रोजी-रोटी के लाले पड़ रहे हैं। वह प्रोड्यूसर्स को सिनेमा हॉल में फिल्मों को रिलीज करने के लिए मजबूर तो कर रहे हैं पर दर्शकों पर उनकी एक नहीं चल रही है। इसका संबंध समय और पैसे से भी है। मुश्किल सबसे बड़ी ये है कि एक फिल्म को सिनेमा हॉल में देखने के लिए कम-से-कम 250 रुपये खर्च करने पड़ते हैं लेकिन ओटीटी प्लेटफार्म पर इतने ही रकम में पूरे एक महीने का सब्सक्रिब्शन मिल रहा है। आने वाले समय में भी मुझे इस बात की कोई उम्मीद नहीं दिखती है कि दर्शक दोबारा सिनेमा हॉल का रुख करेंगे।

ये भी पढ़ें: हॉलीवुड की वे 15 ब्लॉकबस्टर फिल्में जो अपने समय में हुईं प्रतिबंधों की शिकार

संदेह के बादल हैं और निराशा से बचना मुश्किल लग रहा है। कई फिल्मों की रिलीज़ की तारीखों का अभी तक पता नहीं है। जिनके डेट आ रहे हैं वह बार-बार बदल जा रहे हैं। ऐसे हालात में बेहतर है कि हम कुछ ऐसी फिल्में देखें जो अपने जमाने में भले कंट्रोवर्सियल रहीं पर उन्हें माइलस्टोन कहा जा सकता है। हां, इस बात से इंकार नहीं किया जा सकता है कि इन फिल्मों में अधिक हिंसा, सेक्सुअल कंटेंट, धर्म और राजनीति को दिखाया गया था।

एंटीक्राइस्ट (Antichrist)

हॉलीवुड की 12 फिल्में जो कॉन्ट्रोवर्सियल कंटेंट के कारण प्रतिबंध की शिकार हो गईं

बैन: फ्रांस।

वजह: ‘एंटीक्राइस्ट’ फिल्म में अधिक हिंसा और सेक्सुअल कंटेंट दिखाया गया था। Promouvoir नाम के एक कैथोलिक ग्रुप ने कंट्रोवर्सियल सब्जेक्ट के बिना पर आपत्तिजनक जताई थी और फिल्म को कोर्ट में घसीटा था। यह केस संस्था ने जीता था और इसे बैन कर दिया गया था।

रिलीज: 2009

लास्ट टैंगो इन पेरिस (Last Tango In Paris)

हॉलीवुड की 12 फिल्में जो कॉन्ट्रोवर्सियल कंटेंट के कारण प्रतिबंध की शिकार हो गईं

बैन: ब्रिटेन, चिली, दक्षिण कोरिया, पुर्तगाल, ऑस्ट्रेलिया, इटली और कनाडा।

वजह: ‘लास्ट टैंगो इन पेरिस’ फिल्म में यौन हिंसा को बढ़ा-चढ़ा कर दिखाया गया था। रेप वायोलेंस की अति थी फिल्म में। कई वजहों से यह बैन हुई थी। आगे चलकर फिल्म की एक्ट्रेस मारिया श्नाइडर ने आरोप लगाया था कि शूट के दौरान सचमूच उनके साथ रेप किया गया था।

रिलीज: 1972

ये भी पढ़ें: जब प्राण ने फिल्म ‘पाकीज़ा’ के साथ बेईमानी होने पर अपना पुरस्कार लौटा दिए

फ्रिक्स (Freaks)

हॉलीवुड की 12 फिल्में जो कॉन्ट्रोवर्सियल कंटेंट के कारण प्रतिबंध की शिकार हो गईं

बैन: ब्रिटेन और कनाडा।

वजह: ‘फ्रिक्स’ नाम के कई बार फिल्म बन चुकी है। लेकिन 1932 में बनी फिल्म दिव्यांग लोगों की कहानी और उनकी परेशानियों पर आधारित थी। पर ब्रिटिश और कनाडा सरकार ने यह कहकर फिल्म का विरोध किया कि इससे हैंडिकेप लोगों की गरिमा को ठेस पहुंचेगी और यह उन्हें मानसिक तौर पर उत्पीड़ित भी कर सकती है।

रिलीज: 1932

दि एक्सॉर्सिस्ट (The Exorcist)

हॉलीवुड की 12 फिल्में जो कॉन्ट्रोवर्सियल कंटेंट के कारण प्रतिबंध की शिकार हो गईं

बैन: सिंगापुर, इंग्लैंड और मलेशिया।

वजह: ‘दि एक्सॉर्सिस्ट’ इतनी डरावनी थी कि फिल्म को देखने के दौरान कई लोग थिएटर में बेहोश हो गए थे। कुछ लोगों को दिल का दौरा भी पड़ गया था। जिसके चलते इसे बैन कर दिया गया था।

रिलीज: 1973

द ग्रेट डिक्टेटर (The Great Dictator)

हॉलीवुड की 12 फिल्में जो कॉन्ट्रोवर्सियल कंटेंट के कारण प्रतिबंध की शिकार हो गईं

बैन: जर्मनी और अर्जेंटीना।

वजह: कहा जाता है कि चैप्लिन की पहली बोलती फिल्म ‘द ग्रेट डिक्टेटर जर्मन तानाशाह एडोल्फ हिटलर और नासिज्म के खिलाफ अवज्ञा का एक अधिनियम था। चुंकि फिल्म में नाजियों और हिटलर का मजाक उड़ाया गया था, इसलिए बैन कर दिया गया था।

रिलीज: 1940

ये भी पढ़ें: संगीतकार नौशाद अपनी शादी में दर्जी बनकर गए और बैंड वाले बजा रहा थे उन्हीं का गाना

अ क्लॉकवर्क ऑरेंज (A Clockwork Orange)

हॉलीवुड की 12 फिल्में जो कॉन्ट्रोवर्सियल कंटेंट के कारण प्रतिबंध की शिकार हो गईं

बैन: ब्रिटेन।

वजह: यह फिल्म हॉलीवुड के महान डायरेक्टर स्टैनले क्यूब्रिक ने बनाई थी। इसे आज भी कल्ट मूवी की फेहरिस्त में सबसे ऊपर रखा जाता है। यह एक साइकोड्रामा था। चुंकि फिल्म के रिलीज के बाद ब्रिटेन में हिंसक वारदातें होने लगी थीं इसलिए डायरेक्टर क्यूब्रिक ने खुद ही इसे वहां दिखाए जाने पर रोक लगा दी थी।

रिलीज: 1971

द डेविल्स (The Devils)

हॉलीवुड की 12 फिल्में जो कॉन्ट्रोवर्सियल कंटेंट के कारण प्रतिबंध की शिकार हो गईं

बैन: ब्रिटेन और अमेरिका।

वजह: ‘द डेविल्स’ के कंटेंट बेहद आपत्तिजनक थे। फिल्म में हिंसा के अलावा धार्मिक कट्टरता भी दिखाया गया था जिसके चलते कई लोगों ने भावनाएं आहत होने का आरोप लगाया और यह बैन की शिकार हो गई।

रिलीज: 1971

सलो, और द 120 डेज ऑफ सोडोम (Salò, or the 120 Days of Sodom)

हॉलीवुड की 12 फिल्में जो कॉन्ट्रोवर्सियल कंटेंट के कारण प्रतिबंध की शिकार हो गईं

बैन: ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, जर्मनी, नॉर्वे, ईरान, इटली और फिनलैंड।

वजह: इस फिल्म में भी हद दर्जे की हिंसा दिखाई गई थी। यह फिल्म फासीवाद और प्रताड़ना दिखाने के लिए बैंन हुई। यह सबसे अधिक देशों में प्रतिबंधित होने वाली फिल्मों में से एक है। यह 1904 में मार्डी डे साडे की प्रकाशित किताब ‘द 120 डेज ऑफ सोडोम’ पर आधारित थी। फिल्म में द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान सेट किया गया था। यह दिग्गज निर्देशक पियर पाओलो पासोलिनी की अंतिम फिल्म थी, जिसे उनकी हत्या के तीन सप्ताह बाद रिलीज किया गया था।

रिलीज: 1975

ये भी पढ़ें: जब लता मंगेशकर को जहर देकर मारने की कोशिश की गई

लास्ट हाउस ऑन द लेफ्ट (Last House On The Left)

हॉलीवुड की 12 फिल्में जो कॉन्ट्रोवर्सियल कंटेंट के कारण प्रतिबंध की शिकार हो गईं

बैन: ब्रिटेन, सिंगापुर, आईसलैंड, न्यूज़ीलैंड, नॉर्वे, जर्मनी और ऑस्ट्रेलिया।

वजह: ‘लास्ट हाउस ऑन द लेफ्ट’ भी हिंसा और बलात्कार के सीन्स को लेकर बैन की शिकार हुई थी। फिल्म में वायोलेंस और रेप जैसे संवेदनशील घटनाओं को बड़े ही क्रूरता से दिखाया गया था। जो कोई भी फिल्म देखता था सीन्स को देखकर डिप्रेशन में चला जाता है।

रिलीज: 1972

आई स्पिट ऑन योर ग्रेव (I Spit On Your Grave)

हॉलीवुड की 12 फिल्में जो कॉन्ट्रोवर्सियल कंटेंट के कारण प्रतिबंध की शिकार हो गईं

बैन: जर्मनी, नॉर्वे, आईसलैंड, ऑस्ट्रेलिया, फिनलैंड, यूके, आयरलैंड, कनाडा, चीन, सिंगापुर और मलेशिया।

वजह: ‘आई स्पिट ऑन योर ग्रेव’ फिल्म में रेप और टॉर्चर के विभत्स दृश्य फिल्माए गए थे इसलिए इसे बैन कर दिया गया। कई दृश्य ऐसे हैं जिसे देखने बाद किसी को भी आपत्ती हो सकती है।

रिलीज: 1978

ये भी पढ़ें: जब सलमान खान को बी ग्रेड फिल्म के निर्देशक ने धक्के मारकर बाहर निकलवा दिया

हॉलीवुड की 12 फिल्में जो कॉन्ट्रोवर्सियल कंटेंट के कारण प्रतिबंध की शिकार हो गईं

दा विंची कोड (The Da Vinci Code)

बैन: भारत, पाकिस्तान, सीरिया, बेलारूस, लेबनान और कुछ यूरोपिय देश।

वजह: डैन ब्रोउन की किताब ‘दा विंची कोड’ पहले से ही विवादित थी। फिल्म आने के बाद और बलाव कट गया। कथित ईसाई विरोधी कंटेंट के लिए भारत समेत कई देशों में फिल्म की स्क्रीनिंग पर प्रतिबंध लगा दिया था। ईशा मसीह की साथी मेरी मैग्डलीन को लेकर कुछ तथ्य दिखाए गए थे जिस पर ईसाई समूदाय के लोगों को आपत्ति थी।

रिलीज: 2006

द बर्थ ऑफ अ नेशन (The Birth of a Nation)

हॉलीवुड की 12 फिल्में जो कॉन्ट्रोवर्सियल कंटेंट के कारण प्रतिबंध की शिकार हो गईं

बैन: फ्रांस और अमेरिका के कुछ राज्य

वजह: ‘द बर्थ ऑफ ए नेशन’ फिल्म इतिहास का एक मील का पत्थर है। यह पहली 12-रील लंबी फिल्म थी। साल 2015 में फिल्म ने 100 साल पूरे किए थे। फिल्म में अब्राहम लिंकन की हत्या और अमेरिकी गृह युद्ध के आसपास की कहानी दिखाई गई थी। फिल्म अपनी रिलीज से पहले ही विवादों में आ गई थी। क्योंकि यह रेसिस्ट तंजीम कु क्लक्स क्लान (KKK) का महिमामंडित करती दिखाई गई थी। कहा जाता है कि हिटलर इस अमेरिकी फिल्म को देखने के बाद काफी प्रभावित हुआ था।

रिलीज: 1915


प्रिय पाठक, पल-पल के न्यूज, कहानी-कविता, संपादकीय, लाइफस्टाइल, मनोरंजन और साहित्य की खबरें पाने के लिए ‘न्यूज बताओ’ के फेसबुक और ट्विटर हैंडल से जुड़ें। क्लिक कर लाइक और फॉलो करें!

Leave a Reply

Your email address will not be published.